Ghoomketu Movie Review in Hindi – Zee5

Hello friends welcome to Ghoomketu Movie Review in Hindi by Moviesfunter.com. Ghoomketu फिल्म को आप Zee5 पर देख सकते हो और यह एक family friendly फिल्म हैं, बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक हर कोई इसे देख सकता है| Total 1 घंटे 40 मिनट की कुर्बानी देनी पड़ेगी, जिसके बाद ‘अनन्या पांडे’ जी के लिए आपके मन में इज्जत और बढ़ जाएगी|

इस दुनिया में जीने के लिए रोटी, कपड़ा और मकान इन तीन चीजों को इंसान की सबसे बड़ी जरूरत माना जाता है, लेकिन अगर इंसान मुंबई पहुंच जाए तो उसमें एक चीज और जोड़ लीजिए ‘struggle’| स्ट्रगल की बात हो रही है, तो फिर इसकी भगवान है Ananya देवी , जिनके सामने मत्था टेकना बहुत जरूरी है| हर भगवान को याद करने के लिए आरती या मंत्र का सहारा लिया जाता है, ठीक वैसे ही अनन्या देवी की पूजा के लिए स्पेशल फिल्म मार्केट में आयी है, जो उनकी स्ट्रगल वाले किस्से को हमारे सामने रखती है| बस इस बार इनकी शक्ल और नाम दोनों बदल गए हैं, क्यों की भगवान की लीला तो भगवान ही समझे ,क्या पता वह कितने अवतार ले सकते हैं|

Also View: Top 10 Best Netflix Movies in Hindi

Ghoomketu Movie Review in Hindi – Zee5

Ghoomketu Movie Review:

इस बार कहानी Ghoomketu नाम के एक छोटे-मोटे writer के around लिखी गई है, जो ठीक गणेश जी की महाभारत की तरह एक ऐसी कहानी लिखने का सपना देखते हैं, जो पूरी दुनिया में एक बदलाव ला सके और पीढ़ियों तक लोग इनके नाम को याद रखें|

इस सपने को सच करने के लिए Ghoomketu घर से भाग कर मुंबई जाने का मन बनाते हैं, और किसी बड़ी Bollywood फिल्म की कहानी लिखने की तलाश में इधर-उधर भागने लगते हैं, और यहां से struggle की शुरुआत हो जाती है| बस फर्क इतना है कि अनन्या मैडम को करण साहब का student बनने का मौका plate में सजाकर दिया गया था, लेकिन Ghoomketu एड़ी चोटी की मेहनत लगा कर भी एक plate खाने का जुगाड़ करने में धीरे-धीरे फेल होने लगते हैं| Romance से लेकर comedy, horror से लेकर action हर type की कहानी इनके दिमाग में घूमती रहती है, लेकिन director साहब इनकी कहानी को पूरा कचरा बताकर Ghoomketu का दिल और सपना दोनों तहस-नहस कर देते हैं|

सबसे कमाल के है, Ghoomketu के घरवाले जो अपने आप में किसी कहानी से कम नहीं है|  इनकी माँ समान Santo Bua, जो डकार लेने में world record बना सकती हैं, या फिर इनके पिताजी तो डांट, फटकार लगाने में हिटलर के भी बाप साबित होते हैं| Guddan Chaha जी भी हैं, जो टूटे दिल के साथ नेता बन चुके हैं, और सबसे मजेदार हैं इनकी पत्नी Janki Devi, जो अदला-बदली के खेल में Ghoomketu के गले पड़ गई है| कहानी में twist आता है, जब घर वाले मिलकर पुलिस की मदद से Ghoomketu को वापस घर लाने की तैयारी करते हैं| इनका केस पहुंचता है Inspector Badlani के हाथों में, जो घुस खाने के लिए काफी मशहूर है, लेकिन आज तक एक भी केस solve नहीं कर पाए हैं|

क्या Ghoomketu, Ananya Panday की struggle के level को match कर पाएंगे और किसी ना किसी दिन “Coffee With Karan” का हिस्सा बन जाएंगे? या फिर सड़क पर इधर-उधर भटकने के बाद वापस घर लौट कर अपना मन बेहला लेंगे? क्या बदलानी साहब जिंदगी में पहली बार किसी केस को अंजाम तक पहुंचा पाएंगे? या फिर शिकार के सामने आने के बावजूद बाजी इनके हाथों से फिसल जाएगी? और सबसे जरूरी सवाल क्या घूमकेतु की महाभारत कभी पूरी हो पाएगी जिसका हिस्सा उनके घरवाले बनेंगे? या फिर writing का भूत इनके शरीर को हमेशा-हमेशा के लिए छोड़ देगा? इन सभी सवालों के जवाब देने का काम करती है Ghoomketu Movie. 

Also View: Paatal Lok Review in Hindi – Amazon Prime Web Series

Movie का concept काफी अलग है, और इसके जैसी कोई फिल्म आपने पहले नहीं देखी होगी| चार्ली चैप्लिन की comedy से लेकर, वीराना जैसी भूतिया फिल्मों के scene को recreate करने की कोशिश की गई है| कहीं-कहीं पर मजाकिया lines आप सबको अंदर से गुदगुदा भी सकती हैं|

जिस तरीके से इन सब को आपस मेंजोड़कर screen पर दिखाया गया है, उसको देखने के बाद आप हंसी तो छोड़िए, आपको अपनी किस्मत पर सिर्फ तरस आ सकता है| कभी अचानक से flashback वाले किस्से प्रकट हो जाते हैं, तो कभी मनगढ़ंत घूमकेतु वाली कहानियां screen पर घूमने लगती हैं| इन सबके बीच में क्या सच है और क्या imagination उसका पता लगाने के लिए, आपको ‘CID’ के दया की जरूरत पड़ सकती है| 

फिल्म का main topic है मुंबई का struggle, लेकिन almost 2 घंटे की कहानी में, ना तो मुंबई के ढंग से दर्शन होते हैं और struggle तो बस उतनी ही है, जितनी अनन्या पांडे को बिस्तर से पैर नीचे रखने में पड़ती है| इसके सबसे बड़े कसूरवार है फिल्म के director जिन्होंने अपने हाथों से Bollywood को एक अच्छी खासी फिल्म देने का मौका पूरी तरह गवा दिया है|

शायद यह खुद TikTok के काफी बड़े fan होंगे, जिन्होंने 10-10 सेकंड के scene को आपस में जोड़ कर फिल्म तैयार कर दी है, लेकिन इनका एक दूसरे से उतना ही लेना देना है, जितना मेरा YouTube VS TikTok वाले टॉपिक से|

सबसे दिल दुखाने वाली बात यह है, कि पहली बार नवाजुद्दीन को किसी फिल्म मैं acting करते हुए देखकर, आप उनकाfan  बनने के लिए बिल्कुल भी मजबूर नहीं होंगे| उनकी performance काफी ज्यादा average और काम चलाऊ है| लेकिन फिल्म की supporting cast काफी तगड़ी है, रघुवीर यादव और उनकी performance आपका दिल जीत लेगी| बीच-बीच में Ranveer Singh, Sonakshi Sinha और Chitrangada Singh के छोटे-छोटे scene आपको bore नहीं होने देंगे|

Amitabh Bachchan सर के fans के लिए भी फिल्म के अंदर एक खास surprise छुपा हुआ है, और अपने दम पर यह फिल्म की ending को इधर से उधर घुमाने की ताकत रखते हैं|

कम शब्दों में बोले तो घूमकेतु एक average फिल्म है, जिस पर आप ड़ेढ घंटे खर्च तो कर सकते हो, लेकिन उससे अच्छा आप अनन्या मैडम का interview देख लो, जो moral science से भी ज्यादा गहराई से आपको जिंदगी के lesson सिखा देगा|

Also View: Super Deluxe Movie | Full Story & Ending Explained In Hindi

Ghoomketu Movie Rating:

हमारी तरफ से घूमकेतु को 5 में से 2 स्टार|

एक स्टार उनके unique और fresh concept के लिए, और एक स्टार supporting cast की performance के लिए|

बात करें negatives की तो एक स्टार कटेगा बहुत ही कमजोर कहानी के लिए, एक स्टार director साहब की बचकानी हरकतों के लिए, एक स्टार music के लिए जिसको सुनने के बाद आपको इलाज की जरूरत पड़ सकती है|

अपने विचार comments मैं बताइए!

Leave a Comment